गाड़ी कम चलाते हैं? इस ऐड-ऑन के जरिए बीमा प्रीमियम में बचा सकते हैं काफी पैसे

बीमा कंपनियां अब वाहन बीमा में 'उपभोग के अनुसार भुगतान' (PAYC) का विकल्प दे रही हैं

0
201

आज शायद ही ऐसा घर हो जहां वाहन नहीं हो। एक घर में दो या दो से अधिक वाहन होना अब एक सामान्य बात है। जाहिर है, ऐसे हर घर को हर साल इन वाहनों का बीमा लेना पड़ता होगा, जो कि काननून जरूरी है। आप भी हर साल आने वाले इन खर्चों का सामना करते होंगे! अगर आप अपने वाहन को रोजाना चलाते हैं तब तो यह खर्च उचित लगता है, परंतु अगर आप गाड़ी कम चलाते हैं तो प्रीमियम का खर्च आपको जरूर भारी लगता होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गाड़ी कम चलाने पर आपके वाहन बीमा का प्रीमियम भी कम हो सकता है?

बीमा कंपनियां अब वाहन बीमा में ‘उपभोग के अनुसार भुगतान’ (PAYC) का विकल्प दे रही हैं। PAYC मॉडल विकसित देशों में काफी समय से चल रहा था, लेकिन भारत में इसका चलन नया है। आइए इस फीचर के बारे में विस्तार से समझते हैं।

PAYC एक ऐड-ऑन कवर है, जिसमें प्रीमियम की गणना दूरी और चुने गए कवरेज के अनुसार की जाती है।

PAYC एक ऐड-ऑन कवर है, जिसे आप अपनी मोटर बीमा पॉलिसी के ओन डैमेज सेक्शन के तहत खरीद सकते हैं। PAYC ग्राहक की पसंद और वाहन के उपयोग के आधार पर कवरेज चुनने की स्वतंत्रता देता है; प्रीमियम की गणना तय की गई दूरी और बीमाधारक द्वारा चुने गए कवरेज के अनुसार की जाती है। आपके पास बीमाकर्ता की ओर से दिए गए विभिन्न उपयोग स्लैब में से चयन करने का विकल्प होता है। ये स्लैब बीमा कंपनी के हिसाब से अलग-अलग होते हैं।

अगर आप इस पूर्व-घोषित उपयोग सीमा को पार कर जाते हैं तो ऊंचे किलोमीटर स्लैब पर जा सकते हैं। परंपरागत बीमा में प्रीमियम की गणना जहां कार के मॉडल, वाहन की उम्र, आईडीवी मूल्य और स्थान आदि के आधार पर की जाती है, वहीं, PAYC मॉडल तय की गई दूरी के आधार पर भी प्रीमियम की गणना करता है। सीधे शब्दों में कहें तो PAYC आपकी व्यक्तिगत जरूरतों के अनुसार कवरेज तैयार करने में आपकी मदद करता है।

टेलीमैटिक्स डिवाइस का उपयोग
PAYC मॉडल में टेलीमैटिक्स डिवाइस का उपयोग जरूरी है। टेलीमैटिक्स डिवाइस डेटा को संग्रहीत करने, प्राप्त करने और भेजने के लिए सूचना विज्ञान, उन्नत विश्लेषण और दूरसंचार का उपयोग करता है। बीमाकर्ता वाहन में एक टेलीमैटिक्स उपकरण स्थापित करते हैं; डिवाइस को आमतौर पर कार के ऑन-बोर्ड डायग्नोस्टिक्स पोर्ट में प्लग किया जाता है। यह उपकरण वाहन द्वारा तय की गई दूरी पर नज़र रखता है, और यह खर्च हुई और बची हुई दूरी को भी दिखाता है। ऐसे उपकरण उपयोगकर्ता के ड्राइविंग व्यवहार को भी ट्रैक करते हैं।

टेलीमैटिक्स डिवाइस के उपयोग के अलावा ऐप-आधारित टेलीमैटिक्स का भी उपयोग किया जाता है। सतर्क और सावधान ड्राइवरों को उनके सुरक्षित ड्राइविंग व्यवहार के लिए प्रीमियम छूट दी जाती है। आप जितनी अच्छी गाड़ी चलाएंगे, आपको उतनी ही अधिक छूट मिलेगी।

किसे लेना चाहिए ये ऐड-ऑन?
‘जैसा उपभोग, वैसा भुगतान’ उन लोगों के लिए बेहतर है जो अपने वाहनों का उपयोग कभी कभार करते हैं। यह उन लोगों के लिए भी उपयुक्त है, जिनके पास एक से अधिक वाहन हैं, और वे उनका समान रूप से उपयोग नहीं करते हैं। यह उन लोगों के लिए बहुत उपयुक्त है जो अपनी गाड़ी की तुलना में पब्लिक ट्रांसपोर्ट ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। यह उन लोगों के लिए भी उपयुक्त है जो अपने नियमित आवागमन के लिए कार पूल का उपयोग करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here