पहले से बीमारी है तो भी आसानी से ले सकते हैं हेल्थ इंश्योरेंस, बस रखें ये सावधानियां

कोई कैंसर, हृदय रोग, किडनी या फेफड़ों से संबंधित बीमारी ही क्यों न हो, आसानी से एक व्यापक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी ले सकता है।

0
164
Health insurance

मयंक अस्थाना को 10 वर्षों से डायबिटीज टाइप-2 है। मयंक अकसर एक स्वास्थ्य बीमा कवर के बारे में सोचते थे, लेकिन इस आशंका से उन्होंने कभी आगे बात नहीं बढ़ाई ​कि बीमारी के चलते कोई बीमा कंपनी उन्हें हेल्थ इंश्योरेंस नहीं देगी। हालांकि, मयंक फाइनेंशियल एडवाइजर दोस्त से मिलने के बाद पूरी तरह आश्चर्यचकित हो गए जिसने उन्हें बताया कि वे आसानी से एक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी ले सकते हैं जो अन्य सभी बीमारियों के साथ उनके डायबिटीज को भी कवर करेगी। 

मयंक की तरह बहुत से लोगों को यही लगता है कि पहले से बीमारी मौजूद होने पर स्वास्थ्य बीमा नहीं मिलेगा। लेकिन अब ऐसा नहीं है। ज्यादातर स्वास्थ्य बीमा पहले से मौजूद बीमारियों को कवर करते हैं। बस पहले से मौजूद बीमारियों को केवल अनिवार्य पूर्व-निर्धारित प्रतीक्षा अवधि के बाद ही कवर किया जाता है। बीमा कंपनियां आपकी पहले से मौजूद बीमारी के लिए 0 दिन से लेकर 4 साल तक की प्रतीक्षा अवधि तक कवरेज प्रदान करती हैं।

पहले से मौजूद सबसे आम बीमारियों में से एक जिसके चलते लोगों को कुछ साल पहले स्वास्थ्य बीमा देने से मना कर दिया जाता था, वह है हाई बीपी। पहले आमतौर पर 10-15 साल के बीपी के इतिहास वालों को स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी देने से मना कर दिया जाता था। हालांकि, अब 20 साल से अधिक समय से हाई बीपी के इतिहास वाले लोग भी आसानी से स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी प्राप्त कर सकते हैं। आज, पहले से मौजूद किसी भी बीमारी से पीड़ित ग्राहक, चाहे वह कैंसर, हृदय रोग, किडनी या फेफड़ों से संबंधित बीमारी ही क्यों न हो, आसानी से एक व्यापक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी ले सकता है।

पहले से मौजूद बीमारी का खुलासा जरूर करें

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी भरते समय अगर आप कोई जानकारी छिपाते हैं तो बीमा कंपनी भविष्य में गलत जानकारी के आधार पर आपका दावा खारिज कर सकती है। यदि आप ऐसे किसी भी दावे की अस्वीकृति से बचना चाहते हैं, तो आपको अपनी पूर्व-मौजूदा स्थितियों और अन्य सभी विवरणों का ईमानदारी से खुलासा करना चाहिए। 

ये भी पढ़ें: वो 6 गलतियां, जिनके चलते रिजेक्ट हो सकता है आपके हेल्थ इंश्योरेंस का क्लेम

हेल्थ इंश्योरेंस लेते समय इन बातों का भी ध्यान रखें

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। इसमें समअश्योर्ड यानी बीमा राशि भी शामिल है, जिसे आपके परिवार के आकार और परिवार के सदस्यों की उम्र के अनुसार तय किया जाना चाहिए। दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात जिस पर आप को गौर करना चाहिए, वह है पॉलिसी में दी गई प्रतीक्षा अवधि है। बड़ी गंभीर बीमारियों के लिए हमेशा न्यूनतम प्रतीक्षा अवधि वाली पॉलिसी चुनें। इसके अलावा, उन योजनाओं की तलाश करें जो विभिन्न स्थितियों और कमरे के किराए के उपचार के लिए शून्य सह-भुगतान और उप-सीमाओं के साथ आती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here